दिग्विजय सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज

चिरौरी न्यूज़ डेस्क

भोपाल: मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को अपने ट्विटर अकाउंट पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एडिटेड वीडियो साझा करना मंहगा पर सकता है। इसके लिए दिग्विजय सिंह के खिलाफ भाजपा नेताओं ने अपराध शाखा में प्राथमिकी दर्ज कराई है।

बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल पर रविवार की दोपहर को एक वीडियो डाला, जिसमे लिखा है कि ‘मदिरालय खोल दिए पर मंदिरों और पूजा स्थलों पर लॉकडाउन। वाह रे मामा इतना पिलाओ के पड़े रहें।’

अब इसी बात को लेकर भाजपा नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने रविवार की रात को अपराध शाखा में एक शिकायत दर्ज कराई है। भाजपा की ओर से पुलिस में की गई शिकायत में बताया गया है कि शिवराज सिंह चौहान ने जनवरी 2020 में तत्कालीन कमल नाथ सरकार की आबकारी नीति को लेकर संवाददाताओं से चर्चा के दौरान शराब दुकानें गांव-गांव में खोले जाने का विरोध किया था। बता दें कि शिवराज सिंह चौहान का यह बयान दो मिनट 19 सेकेंड का है, जिसे उन्होंने अपने ट्विटर एकाउंट पर डाला था। अब इस वीडियो को दिग्विजय सिंह और उनके साथियों ने काट-छांट कर उसे नौ सैकेंड का तैयार कर ट्विटर पर डाला है।

भाजपा नेताओं का कहना है कि दिग्विजय सिंह का ये कृत्य भाजपा की वर्तमान सरकार और मुख्यमंत्री चौहान की छवि को धूमिल करने के मकसद से किया गया है, इसीलिए उनके विरूद्ध अपराध शाखा में शिकायत दर्ज करायी गई है। अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक निश्चल झारिया ने बताया कि रविवार रात को पूर्व मंत्री व विधायक विश्वास सारंग, पूर्व मंत्री उमाशंकर गुप्ता, विधायक कृष्णा गौर, रामेश्वर शर्मा आदि ने लिखित शिकायत की। साक्ष्य के तौर पर वीडियो की कापी पेन ड्राइव में भी दी। इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.