हेमंत सोरेन ने बोकारो में 50 नंदघरों का किया उद्घाटन

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: शिक्षा, महिला सशक्तीकरण और बाल कुपोषण उन्मुलन को बढ़ावा देने के प्रयास में वेदांता ग्रुप की कंपनी और मुख्य राष्ट्रीय स्टील प्लेयर ईएसएल स्टील लिमिटेड ने सिंदुरपेटी में 50 नंदघरों का उद्घाटन किया। यह उद्घाटन झारखण्ड के माननीय मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन के द्वारा वर्चुअल तरीके से किया गया। वेदांता ने 2021 के अंत तक 150 नंदघर संचालित करने का लक्ष्य तय किया है। वेदांता 13.7 लाख आंगनवाड़ियों में 8.5 करोड़ बच्चों और 2 करोड़ महिलाओं के जीवन में बदलाव लाकर अपने इस लक्ष्य के और करीब  आ गया है। तकरीबन 2100 ऐसी संरचनाएं भारत के 10 राज्यों में पहले से मौजूद हैं।

वेंदाता की एक ड्रीम सीएसआर परियोजना नंदघर पारम्परिक आंगनवाड़ियों को आधुनिक, सभी सुविधाओं से युक्त संरचनाओं में बदलकर भारत के ग्रामीण बच्चों और महिलाओं को लाभान्वित करने हेतु समर्पित है, ये आधुनिक संरचनाएं बच्चों को शुरूआती बचपन के विकास के लिए अनुकूल माहौल उपलब्ध कराती है, उनके संज्ञानात्मक, सामाजिक एवं भावनात्मक विकास को प्रोत्साहित करती हैं। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सहयोग से संचालित नंदघर सुनिश्चित करते हैं कि ग्रामीण भारत देश की प्रगति के मार्ग में पीछे न छूट जाए।

इनमें कई मुख्य विशेषताएं हैं जैसे ई-लर्निंग के लिए स्मार्ट टीवी, 24/7 पावर बैकअप, भूकम्परोधी संरचनाएं, शौचालय, वॉटर प्योरीफायर, सोलर पैनल और किचन गार्डन जो इन्हें समुदाय के लिए मॉडल संसाधन केन्द्र बनाते हैं। महिलाओं और बच्चों को पोषक आहार उपलब्ध कराने के अलावा नंदघर गर्भवती महिलाओं, स्तनपान कराने वाली महिलाओं और बच्चों को घर ले जाने के लिए राशन भी उपलब्ध कराते हैं। इन्हें मोबाइल वैन्स के माध्यम से प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जाती हैं। साथ ही महिलाओं को कौशल, क्रेडिट लिंकेज एवं उद्यम विकास में भी सक्षम बनाया जाता है।

वर्चुअल उद्घाटन के बाद झारखण्ड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने कहा, ‘‘वेदांता को इसकी विकास संबंधी पहलों के लिए जाना जाता है और मैं हमेशा से इसे सहयोग प्रदान करता रहा हूं। नंदघर भारत की तीव्र प्रगति को सुनिश्चित करने की दिशा में एक सकारात्मक कदम है। बच्चे हमारे देश का भविष्य हैं और नंदघर से बेहतर इनके जीवन को खूबसूरत बनाने के लिए और कोई पहल नहीं हो सकती। मैं वेदांता परिवार को बधाई देता हूं, जिन्होंने नंदघर के माध्यम से यह लक्ष्य तय किया है। उन्होंने महिलाओं और बच्चों के विकास के लक्ष्य के साथ झारखण्ड सरकार को इन पहलों में सहयोग प्रदान किया है।’’

उद्घाटन और भाषण के अलावा मुख्यमंत्री श्री सोरेन ने नंदघर स्टाफ और समुदाय के सदस्यों के साथ बातचीत की, तथा उनकी कड़ी मेहनत के लिए बधाई दी।

इस अवसर पर श्री पंकज मल्हान, सीईओ, ईएसएल स्टील लिमिटेड ने कहा, ‘‘वेदांता परिवार की ओर से मैं श्री सोरेन जी एवं अन्य दिग्गजों को धन्यवाद करता हूं  जिन्होंने इस उद्घाटन के लिए समय निकाला। यह परियोजना देश भर की आंगनवाड़ियों को आधुनिक संसाधन केन्द्रों में बदलकर महिलाओं और बच्चों के विकास में योगदान दे रही है। मुझे यह ऐलान करते हुए बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है, हम बोकारो में सफलतापूर्वक 50 नंदघर खोल चुके हैं और कम से कम 100 अन्य ऐसे केन्द्र खोलने का लक्ष्य तय किया है। मैं झारखण्ड सरकार के प्रति फिर से आभार व्यक्त करता हूं।’’

वर्चुअल कार्यक्रम के दौरान मौजूद दिग्गजों में वेदांता के सीईओ सुनील दुग्गल और रितु झिंगोन, सीईओ नंदघर शामिल थे। जिन्होंने परियोजना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी दी। उन्होंने नंदघर के बारे में ईएसएल के दृष्टिकोण पर रोशनी डालते हुए माननीय मुख्यमंत्री जी को धन्यवाद दिया। उन दोनों ने नंदघर परियोजना की तीव्र सफलता पर उत्साह व्यक्त किया और अन्य राज्यों में भी इसके विस्तार की बात कही। समारोह में मौजूद अन्य दिग्गजों में श्री राजेश सिंह, डीसी, बोकारो, ममता सहाय, सीडीपीओ चस, श्री आशीष रंजन, हैड कम्युनिटी रिलेशन्स, ईएसएल स्टील लिमिटेड तथा एडब्ल्यूडब्ल्यू नंद घर के लाभार्थी और गांव के अन्य प्रतिनिधी एवं ईएसएल की सीएसआर टीम शामिल थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.