हौले-हौले मंजिल तय कर रहे हैं निखिल अंगरीश

नई दिल्ली। बाॅलीवुड और एक्टिंग की दुनिया अधिकतर लोगों को लुभाती है। थिएटर से जुडे लोगों की तो बात ही निराली होती है। वे तो आहिस्ता आहिस्ता अपना मंजिल तय करते हैं। हरेक कदम हो परफेक्ट, तभी तो लोग कहेंगे वाह। ऐसे ही हैं निखिल अंगरीश। दिल्ली पब्लिक स्कूल और दिल्ली यूनिवर्सिटी से पढाई के साथ-साथ वे थिएटर से जुडे। अभियन की बारिकियां सीखीं। उसके बाद रूख किया मायानगरी मंुबई की।

बेशक मुंबई की मायानगरी इतनी सहज नहीं है। वह तो हर कदम पर इम्तेहान लेती है। एक्टर निखिल अंगरीश कहते हैं कि दिल्ली से जब मुंबई जाने का निर्णय लिया, तो परिवार का पूरा सपोर्ट रहा। अपने दोस्तों और कई सीनियर्स से यह सुन रखा था कि मुंबई इम्तेहान लेती है। मैं पूरी तरह से तैयार था। हारना मुझे सिखाया नहीं गया। दिल्ली का बेटा हूं। परिवार ने दिलो-जान से पाला पोसा है। हिम्मत और जुनून के साथ आगे बढने की कोशिश की है। कई अच्छे गुरू मिले हैं मुंबई में, जो अभियन की बारिकियां सिखा रहे हैं। अब तक कई एड फिल्म मिले हैं। कुछेक छोटे-मोटे किरदार के रूप में अपनी अभियन को लोगों के सामने ला रहा हूं। देखिए, बेहतरीन मौका कब मिलता है। एक सवाल के जवाब में निखिल अंगरीश ने बताया कि हाल ही में मुझे हीरो प्लेजर के एड में काम करने का मौका मिला है। इससे पहले मैंने वीनस क्रीम बार, उबर, होंडा, सफोला, रिनाॅल्ट आदि कंपनियों के एड फिल्म को शूट कर चुका हूं। काम करने का बेहतर अनुभव रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.