किसान आंदोलन के 100 दिन होने पर कृषि मंत्री तोमर ने कहा, सरकार बातचीत के लिए हमेशा तैयार

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: आज कृषि कानूनों के विरोध में किसान आन्दोलन का १०० दिन पुरे हो गए। किसान अपनी मांगों के लिए दिल्ली के विभिन्न बॉर्डर पर जमे हुए हैं,हालांकि अब उनका प्रदर्शन कमजोर पड़ता जा रहा है लेकिन अभी भी इसानों के नेता कृषि कानून को वापस लेने के लिए अपनी मांग पर अडिग है।

इधर कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने किसान आन्दोलन के १०० दिन पुरे होने के बाद कहा कि सरकार किसानों के साथ बातचीत करने के लिए हमेशा तैयार है, लेकिन लेकिन बातचीत बिना शर्त होनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि सरकार आंदोलनकारी किसानों की भावनाओं का सम्मान करते हुए कानूनों में संशोधन के लिए तैयार है। लेकिन अन्नदाता का अहित करके राजनीतिक मंसूबे को पूरा करना ठीक नहीं है।
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) के निर्देश पर मैंने कृषि मंत्री के नाते किसान संगठनों के प्रतिनिधयों से 12 बार लंबी चर्चा की है। कई आवश्यक विषयों पर संशोधन का प्रस्ताव भी दिया। लोकसभा और राज्यसभा में भी मैंने सरकार के पक्ष को रखा। संसद में हर दल के सदस्य ने इस विषय पर बात रखी, लेकिन एक भी सदस्य ने कृषि सुधार बिल में किस बिंदु पर आपत्ति है या इसमें क्या कमी है, यह नहीं बताया।

तोमर ने कहा, “क्या किसान को मारकर राजनीति की जाएगी, किसान का अहित करके राजनीति की जाएगी, देश की कृषि अर्थव्यवस्था को तिलांजलि देकर अपने मंसूबों को पूरा किया जाएगा, इस पर निश्चित रूप से नई पीढ़ी को विचार करने की जरुरत है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.