योगेंद्र यादव, राकेश टिकैत समेत कई नेताओं के खिलाफ पुलिस ने किया केस दर्ज

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: स्वराज इंडिया के अध्यक्ष और किसान आंदोलन में सक्रिय रहे योगेंद्र यादव समेत कई नेताओं के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने हिंसा फ़ैलाने के जुर्म में केस दर्ज किया है। योगेंद्र यादव पर एनओसी तोड़ने का आरोप लगा है। योगेंद्र यादव के अलावा राकेश टिकैत और बलविंदर बाजवा समेत 8 नेताओं के खिलाफ गाजीपुर थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। कुछ और किसान नेताओं पर भी पुलिस मुकदमा दर्ज कर सकती है।

दिल्ली पुलिस ने विभिन्न थानों में प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हिंसा फैलाने के आरोप में अब तक 22 FIR दर्ज की है साथ ही साथ तक़रीबन 100 लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दंगों से संबंधित कानूनों के तहत दर्ज की गई हैं, जिसमें सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाना और हथियारों के साथ सरकारी कर्मचारियों पर हमला करना शामिल है। दिल्ली पुलिस ने बताया है कि कल की हिंसा को लेकर IPC की धारा 395 (डकैत), 397 (लूट या डकैत, मारने या चोट पहुंचाने की कोशिश), 120 बी (आपराधिक साजिश की सजा) और अन्य धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की है। क्राइम ब्रांच द्वारा जांच की जाएगी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों ने हिंसक प्रदर्शनकारियों की पहचान करने के लिए वीडियो फुटेज का अध्ययन करना शुरू कर दिया है। उन लोगों की पहचान की जाएगी जिन्होंने सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया और दिल्ली पुलिस कर्मियों पर हमला किया।

दिल्ली में हुए हिंसा और उपद्रव पर  केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के घर पर उच्च स्तरीय बैठक खत्म हो गई है। दिल्ली पुलिस कमिश्नर, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला और खुफिया एजेंसी के प्रमुख अरविंद कुमार केंद्रीय गृह मंत्री के घर से निकल गए हैं। गृह मंत्री के आवास पर महत्वपूर्ण बैठक दिल्ली में हुए बवाल को लेकर गृहमंत्री के आवास पर चल रही थी।

इधर संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान मजदूर संघर्ष समिति पर साजिश का आरोप लगाया है। एसकेएम ने कहा, दीप सिद्धू जैसे असामाजिक तत्वों और KMSS ने साजिश के तहत किसान आंदोलन को खत्म करने की कोशिश की।

Leave a Reply

Your email address will not be published.