कोरोनाकाल में विमान सेवा को लेकर राजनीति चरम पर

अभिषेक मल्लिक

नई दिल्ली: देश में कोरोना के आंकड़े जैसे जैसे बढ़ रहे वैसे ही देश में कोरोना के नाम पर राजनीति गरमा रही है। लॉकडाउन 4  में कभी मजदूरों के नाम पर राजनीति चमकाई गयी तो कभी मजदूरों को घर पहुंचाने वाले बस के नाम पर लेकिन अब घरेलू उड़ानों के नाम पर दो अलग अलग राज्यों के बीच ठन गयी है।
दरअसल कोरोना महामारी के वजह से लॉकडाउन 4 में  केंद्र सरकार ने घरेलु उड़ानों को शुरू करने का प्लान तैयार कर लिया है और 25 मई से उड़ानों को शुरू करने का ऐलान किया है। लेकिन इस बीच दो गैर बीजेपी राज्य यानि महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ ने इसपर अपनी असहमति जताई है जो अब राजनीतिक मोड़ ले लिया है। जहां एक ओर महाराष्ट्र ने अपने पुराने आदेश में अभी तक बदलाव नहीं किया है तो वही दूसरी ओर छत्तीसगढ़ भी ने केंद्र से ब्लू प्रिंट की स्पष्ट जानकारी मांगी है।

महाराष्ट्र में लॉकडाउन में मिली छूट में अभी तक कोई बदलाव नहीं

केंद्र की बीजेपी सरकार भले ही घरेलू उड़ानों को 25 मई से उड़ने की अनुमति दे दी हो लेकिन महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने 19 को लॉकडाउन पर दिए अपने फैसले पर अड़ी है जिसमें कुछ ख़ास तरह की उड़ानों को ही मंजूरी मिली है। इसमें घरेलू एयर एम्बुलेंस तथा सुरक्षा सम्बन्धी एयर को अनुमति मिली है। राज्य सरकार ने 19  मई को ही लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ने का आदेश जारी किया था, जिसके अंतर्गत घरेलु एवं अंतर्राष्ट्रीय यात्राएं प्रतिबंधित रहेगी। मतलब साफ़ है की महाराष्ट्र केंद्र सरकार द्वारा चलाई गयी घरेलू उड़ाने अभी के हालत के मुताबिक महाराष्ट्र के एयरपोर्ट पर नहीं दौड़ेगी। इस मुद्दे पर राजनीति भी जमकर चल रही है कुछ ऐसा ही हाल छत्तीसगढ़ , बंगाल और तमिलनाडु का है।

हरदीप पूरी को बघेल का पत्र
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस सम्बन्ध में विमानन राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखा है। पत्र में उन्होने लिखा की उड़ान शुरू करने से कोरोना के मामले बढ़ेंगे इसमें कोई शक नहीं है। बघेल ने अपने पत्र में कुछ कोरोना महामारी के रोकथाम तथा संक्रमण से बचने के लिए कुछ महत्वपूर्ण उपाय दिए है और उम्मीद जताई है की इन सुझावों पर विचार करते हुए सख्त और प्रभावी गाइडलाइन के साथ घरेलु उडान का संचालन की करवाई की शुरुआत की जाए।

उधर तमिलनाडु की सरकार भी इस परिचालन को 31 तक रोकने की मांग की है तो ठीक इसी तरह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी अम्फान तूफान की तबाही की वजह से राज्य में 30  मई तक घरेलू विमानो को रोकने की मांग की है, क्योकि अम्फान तूफान की वजह से कोलकाता एयरपोर्ट बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इससे पहले भी ममता बनर्जी 26 मई तक स्पेशल ट्रेन राज्य में न चलाने की मांग की थी।
हालांकि हरदीप पूरी ने अपने फेसबुक लाइव में ही ये स्पष्ट कर दिए की भारत अगस्त से पहले ही अंतर्राष्ट्रीय यात्राएं शुरू करने का प्रयास करेगा। भारत में 25 मार्च यानि जब से लॉकडाउन का घोषणा हुआ तबसे सभी यात्राएं बंद है।

लेकिन जबसे घरेलु उड़ाने शुरू की घोषणा हुई है इसपर भी राजनीति जमकर हो रही है। इस मुद्दे पर बीजेपी और गैर-बीजेपी राज्य सरकारें आमने सामने दिख रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.