प्रधानमंत्री आज रात 8 बजे फिर से करेंगे देश को संबोधित, बढ़ सकता है लॉकडाउन!

न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: देश भर में कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन 3 चल रहा है, हालांकि कुछ छुट अब दी जारही है, लेकिन दिन प्रतिदिन बढ़ते कोरोना के मरीजों की संख्या अब सरकार के साथ साथ आम लोगों को भी ये सोचने को मजबूर कर रही है कि इतने दिनों के लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना संक्रमण को रोकने में सफल नहीं रहे तो अब किस तरह का उपाय करना चाहिए। और यही बातें कल प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों के साथ चली मैराथन बैठक में निकल कर सामने आयी। तो क्या लॉकडाउन को बढाया जाना चाहिए, या इसमें कुछ सुधार किया जाना जरुरी है।

आज रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन की जरुरत और इसके अर्थव्यवस्था पर पड़ते प्रभाव को लेकर शायद कोई ब्लू प्रिंट आम जनता के सामने रखें। भारत की अर्थव्यवस्था, लॉक डाउन के कारण चरमराने लगी है। पीएमओ ने ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी आज रात 8 बजे देश को संबोधित करेंगे। बता दें कि कल मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पीएम ने राज्यों से 15 मई तक लॉकडाउन पर सुझाव मांगे थे।

मजदूरों का पलायन भी एक ऐसा मुद्दा है जिसपर शायद प्रधानमंत्री कुछ कहें। मोदी विरोधियों का कहना है कि कोरोना से लड़ने का एकमात्र उपाय लॉक डाउन नहीं है, और उनका कहना कुछ हद तक सही भी है कि लॉक डाउन के बाद भी

देश के कई हिस्सों में कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं। उम्मीद की जा रही है कि पीएम मोदी आज रात के संबोधन में देश में फिर से लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर सकते हैं, या फिर लॉकडाउन से धीरे धीरे कैसे बहार आयें इसकी रुपरेखा बता सकते है। कहा तो ये भी जा रहा है कि मोदी क्लस्टर वाइज लॉकडाउन को लागू किया जा सकता है।
17 मई को लॉकडाउन का तीसरा चरण खत्म होने वाला है। राज्यों के मुख्यमंत्रियों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करीब सवा 6 घंटे तक बैठक की और उनसे 15 मई तक ब्लूप्रिंट मांगा है।  प्रधानमंत्री ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पहले जान है तो जहान की बात कहे थे, अब उन्होंने जन सेवक जग तक का नारा दिया है और शायद इसी नारे में लॉकडाउन 4 का संकेत छिपा है।

जो संकेत मिल रहे हैं, उसके अनुसार  17 मई के बाद भी लॉकडाउन जारी रह सकता है।  लॉकडाउन-4 में ज्यादा छूट मिल सकती है जिस से  आर्थिक गतिविधियों में इजाफा हो सकता है।  राज्यों को लॉकडाउन में फैसले लेने के ज्यादा अधिकार मिल सकते हैं।

लॉकडाउन 4 की संभावना इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि कई मुख्यमंत्री इसके पक्ष में हैं। माना जा रहा है कि अगले दो-तीन दिनों में इसको लेकर गाइडलाइंस जारी हो सकती हैं। अगर गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के बयां को आधार माना जाय तो लॉकडाउन 4 की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने कहा है कि 18 मई से लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू होगा। सावंत ने बताया कि इस बार लॉकडाउन में राज्यों को ज्यादा अधिकार दिए गए हैं।

देश भर में कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन 3 चल रहा है, हालांकि कुछ छुट अब दी जारही है, लेकिन दिन प्रतिदिन बढ़ते कोरोना के मरीजों की संख्या अब सरकार के साथ साथ आम लोगों को भी ये सोचने को मजबूर कर रहा है कि इतने दिनों के लॉकडाउन के बावजूद भी कोरोना संक्रमण को रोकने में सफल नहीं रहे तो अब किस तरह का उपाय करना चाहिए। और यही बातें कल प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों के साथ चली मैराथन बैठक में निकल कर सामने आयी। तो क्या लॉकडाउन को बढाया जाना चाहिए, या इसमें कुछ सुधार किया जाना जरुरी है।

आज रात 8 बजे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन की जरुरत और इसके अर्थव्यवस्था पर पड़ते प्रभाव को लेकर शायद कोई ब्लू प्रिंट आम जनता के सामने रखें। भारत की अर्थव्यवस्था, लॉक डाउन के कारण चरमराने लगी है। पीएमओ ने ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी आज रात 8 बजे देश को संबोधित करेंगे। बता दें कि कल मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में पीएम ने राज्यों से 15 मई तक लॉकडाउन पर सुझाव मांगे थे।

मजदूरों का पलायन भी एक ऐसा मुद्दा है जिसपर शायद प्रधानमंत्री कुछ कहें। मोदी विरोधियों का कहना है कि कोरोना से लड़ने का एकमात्र उपाय लॉक डाउन नहीं है, और उनका कहना कुछ हद तक सही भी है कि लॉक डाउन के बाद भी देश के कई हिस्सों में कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं। उम्मीद की जा रही है कि पीएम मोदी आज रात के संबोधन में देश में फिर से लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर सकते हैं, या फिर लॉकडाउन से धीरे धीरे कैसे बहार आयें इसकी रुपरेखा बता सकते है। कहा तो ये भी जा रहा है कि मोदी क्लस्टर वाइज लॉकडाउन को लागू किया जा सकता है।
17 मई को लॉकडाउन का तीसरा चरण खत्म होने वाला है। राज्यों के मुख्यमंत्रियों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने करीब सवा 6 घंटे तक बैठक की और उनसे 15 मई तक ब्लूप्रिंट मांगा है।  प्रधानमंत्री ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पहले जान है तो जहान की बात कहे थे, अब उन्होंने जन सेवक जग तक का नारा दिया है और शायद इसी नारे में लॉकडाउन 4 का संकेत छिपा है।

जो संकेत मिल रहे हैं, उसके अनुसार  17 मई के बाद भी लॉकडाउन जारी रह सकता है।  लॉकडाउन-4 में ज्यादा छूट मिल सकती है जिस से  आर्थिक गतिविधियों में इजाफा हो सकता है।  राज्यों को लॉकडाउन में फैसले लेने के ज्यादा अधिकार मिल सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.