राहुल गांधी ने नड्डा के सवालों का जवाब देने से किया इनकार; बोले, कृषि कानून वापस लेने पड़ेंगे

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने कृषि कानूनों को लेकर एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने किसानों की समस्याओं  पर ‘खेती का खून’ शीर्षक से एक बुकलेट जारी करते हुए कहा कि, ‘‘देश में एक त्रासदी पैदा हो रही है। सरकार इस त्रासदी को नजरअंदाज करना चाहती है और लोगों को गुमराह करना चाहती है। किसानों का संकट इस त्रासदी का एक हिस्सा मात्र है।’’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के सवालों का जवाब देने से इनकार कर दिया और कहा कि, ”क्या जेपी नड्डा मेरे प्रोफेसर हैं कि उनका जवाब देता जाऊं, कौन हैं ये?”

बता दें कि बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा था कि कांग्रेस-नीत संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की सरकार ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को सालों तक क्यों अटका रखा था और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) भी नहीं बढ़ाया। उन्होंने पूछा था कि राहुल गाँधी या कांग्रेस के किसी नेता के पास इस सवाल का जवाब नहीं है।

राहुल गाँधी ने दावा किया कि कृषि क्षेत्र पर तीन-चार पूंजीपतियों का एकाधिकार हो जाएगा जिसकी कीमत मध्यम वर्ग और युवाओं को चुकानी होगी। उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिशों के बावजूद किसान थकने वाले नहीं हैं क्योंकि ‘‘वे प्रधानमंत्री से ज्यादा समझदार हैं’’।

Leave a Reply

Your email address will not be published.