सुभाष बाबू के साहस और पराक्रम ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को नई शक्ति प्रदान की: गृहमंत्री अमित शाह

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने महान स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चन्द्र बोस को उनकी 125वीं जयंती पर श्रद्धांजलि दी है।  अमित शाह ने आज गुवाहाटी, असम में नेताजी के चित्र पर श्रद्धा सुमन अर्पित कर स्वतंत्रता आंदोलन के महानायक को नमन किया।

इस अवसर पर केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि सुभाष बाबू एक ओजस्वी विद्यार्थी, जन्मजात देशभक्त, कुशल प्रशासक और संगठक तथा सबसे संघर्षशील नेता थे। उनके साहस और पराक्रम ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को नई शक्ति प्रदान की। उन्होंने विपरीत परिस्थितियों में अपने करिश्माई नेतृत्व से देश की युवाशक्ति को संगठित किया। कलकत्ता से जर्मनी तक 7000 किलोमीटर से ज़्यादा सड़क मार्ग से जाना और लगभग 27000 किलोमीटर की दूरी सबमरीन में प्रवास कर पूरी कर देश की आज़ादी के लिए कार्यरत रहना सुभाष बाबू के अदम्य साहस का परिचायक है।

अमित शाह ने कहा कि सम्पूर्ण राष्ट्र नेताजी के पराक्रम और अविरल संघर्ष के लिए सदैव ऋणी रहेगा। उनकी जयंती को ‘पराक्रम दिवस’ के रूप में मनाकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने उन्हें एक अभूतपूर्व श्रद्धांजलि दी है। केन्द्रीय गृह मंत्री ने समस्त देशवासियों को पराक्रम दिवस की शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि सुभाष बाबू की 125 वाँ जयंती को देशभर में बहुत ही उत्साह और उमंग के साथ मनाया जाएगा ताकि आने वाली कई पीढ़ियाँ देश के प्रति नेताजी के योगदान को लंबे समय तक याद रख सके। अमित शाह ने यह भी कहा कि इससे प्रेरणा लेकर आने वाले दिनों में लाखों बच्चे देश के विकास और राष्ट्र को आत्मनिर्भर बनाने में अपना योगदान दे सकेंगे ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.