तांडव सीरीज का मामला सरकार के पास पहुंचा

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर जमकर तांडव का विरोध हो रहा है लोग इसे धार्मिक एंगल से जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। अब सिर्फ आम लोग ही नहीं राजनीतिक गलियारों से भी कुछ लोग जोर-शोर से इस सीरीज के विरोध में ट्वीट कर रहे हैं और इस को बैन करने की मांग उठा रहे हैं जिसके चलते सरकार को भी इसमें दखलंदाज़ी करनी पड़ गई है।

इतना गुस्सा तांडव को लेकर क्यों उमड़ रहा है?

दरअसल, तांडव सीरीज में कुछ ऐसे सीन दिखाए गए हैं जिन्हें देखकर लोगों को ऐसा लगता हैं कि उसमें हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाया गया है। दलित समाज को अपमानित किया गया है।फिल्म में भगवान शिव और नारद मुनि का एक दृश्य दिखाया गया है जिसमें अपशब्दों का इस्तेमाल किया गया है। कलाकारों की चर्चित वेब सीरीज तांडव विवादों के घेरे में घिरती हुई नजर आ रही है। सोशल मीडिया पर इसे धार्मिक एंगल से जोड़ा जा रहा है। लगातार बढ़ता विरोध फिल्म की मुश्किलें बढ़ा सकता है।

सरकार ने क्या कदम उठाए?

आपको बता दूं कि यह सीरीज स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म अमेजॉन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई है। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने तमाम शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए अमेजॉन प्राइम से इस पर जवाब मांगा है जिस दिन से सीरीज रिलीज हुई है तभी से ट्विटर पर हैशटैग तांडवबेन ट्रेंड कर रहा है। लोगों ने ट्विटर पर सूचना एवं प्रसारण मंत्री को टैग करते हुए तांडव सीरीज को बैन करने की मांग की है।

इतना ही नहीं,राजनीतिक नेताओं ने भी इस फिल्म के खिलाफ ट्वीट करते हुए तांडव के विरोध में ट्वीट किया है। मुंबई उत्तर पूर्व से भाजपा सांसद कोटक ने यह आरोप लगाया कि ऐसे मंचों पर अक्सर हिंदू देवी देवताओं को गलत तरीके से दिखाने का प्रयास किया जाता है उन्होंने कहा कि विभिन्न संगठनों और व्यक्तियों ने शिकायत की है कि तांडव वेब सीरीज में हिंदू देवी-देवताओं का उपहास किया गया है। कोटक ने यह भी कहा कि अभिनेताओं, निर्माता और निर्देशक को भावनाओं को आहत करने के लिए माफी मांगनी चाहिए।

सूचना प्रसारण मंत्री जावेडकर को लिखे पत्र की तस्वीर ट्विटर पर साझा करते हुए कोटक ने कैप्शन में लिखा कोई कानून या स्वायत्त निकाय नहीं है जो डिजिटल सामग्री को नियंत्रित करें, और ऐसे प्लेटफॉर्म्स पर फिल्में सेक्स, हिंसा, मादक पदार्थ का दुर्व्यवहार और अश्लीलता से भरी हुई होती है। सांसद ने यह भी लिखा कभी-कभी वे धार्मिक भावनाओं को भी चोट पहुंचाती हैं।

कोटक ने यह पत्र 16 जनवरी को लिखा था जिसमें उन्होंने यह आरोप लगाया कि तांडव के निर्माताओं ने जानबूझकर हिंदू देवी-देवताओं का मजाक उड़ाया है और हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं का अपमान किया है। एक अन्य नेता एवं घाटकोपर पश्चिम से भाजपा विधायक राम कदम ने भी निर्देशक से वेब सीरीज के उस हिस्से को हटाने के लिए कहा जिसमें भगवान शिव का कथित रूप से उपहास उड़ाया गया है। विधायक ने इस संबंध में उपनगरीय घाटकोपर पुलिस थाने में शिकायत भी दर्ज कराई है।

सीरीज में मुख्य किरदार में कौन कौन हैं?

यह राजनीति पर आधारित एक फिल्म है जिसे अली अब्बास जफर ने हिमांशु किशन मेहरा के साथ मिलकर इसका निर्माण और निर्देशन किया है। इस फिल्म को गौरव सोलंकी ने की है जो  इससे पहले article 15 के लिए जाने जाते है। फिल्म में मुख्य किरदार में सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया, सुनील ग्रोवर, तिगमांशु धुलिया, डिनो मोरिया, कुमुद मिश्रा, मोहम्मद जीशान अय्यूब, गौहर खान और कृतिका कामरा हैं।

जब से अमेजॉन प्राइम पर “तांडव” सीरीज रिलीज हुई है उसके नाम की तरह फिल्म ने भी तांडव मचा दिया है। माहौल गरम है। हालांकि,ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि किसी फिल्म पर लोगों ने अपना गुस्सा जताया है। पहले भी ऐसे दृश्य देखने को मिलते रहे हैं। जब इन शिकायतों की जानकारी अमेजॉन प्राइम वीडियो से ली गई तो उनके पी आर ने कहा कि प्लेटफार्म मामले पर प्रतिक्रिया नहीं देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.