टूलकिट मामले में निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ वारंट जारी

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: टूलकिट मामले में बेंगलुरु से दिशा रवि की गिरफ़्तारी के बाद अब पुलिस को निकिता जैकब और शांतनु नाम के आरोपियों की तलाश है। निकिता और शांतनु पर टूलकिट साज़िश में शामिल होने का आरोप है। दिल्ली पुलिस ने निकिता और शांतनु के ख़िलाफ गैर-ज़मानती वारंट जारी करवाया है। निकिता जैकब पेशे से वकील है और मुंबई में रहती है। उधर गिरफ़्तारी से बचने के लिए निकिता जैकब ने बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया है। दिल्ली पुलिस ने निकिता और शांतनु के ख़िलाफ गैर-ज़मानती वारंट जारी करवाया है।

इस से पहले दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने दिशा रवि को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया था। दिशा रवि को रविवार को पूछताछ के लिए उसके घर से उठाया गया और बाद में गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तारी को लेकर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि ‘टूलकिट मामले’ के संबंध में यह पहली गिरफ्तारी थी। पुलिस ने दावा किया कि दिशा रवि टूलकिट और Google डॉक की एडिटर थी और इस दस्तावेज के निर्माण और प्रसार की प्रमुख षड़यंत्रकारी थी।

इधर टूलकिट केस में गिरफ्तार दिशा रवि के समर्थन में आम आदमी पार्टी के अरविन्द केजरीवाल सहित कई नेताओं ने ट्वीट किया है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी ट्वीट कर दिशा रवि की गिरफ्तारी का विरोध किया है। प्रियंका गांधी ने ट्विटर पर लिखा कि, “डरते हैं बंदूकों वाले एक निहत्थी लड़की से, फैले हैं हिम्मत के उजाले एक निहत्थी लड़की से।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.