‘इंवेस्टिंग लाइफ’: तीन आम इन्सानों पर आधारित एक फिल्म जो दूसरों के लिए अपना जीवन समर्पित कर देते हैं

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: 52 मिनट की नॉन-फीचर फिल्म ‘इंवेस्टिंग लाइफ’ की निर्देशक वैशाली वसंत केंडाले अपनी फिल्म के बारे में बताती हैं कि यह फिल्म सामाजिक बहिष्कार, सड़क दुर्घटनाओं और इन्सान-जानवर के बीच संघर्ष जैसी प्रतिकूल परिस्थितियों में जीवित रहने वाले व्यक्तियों के जीवन पर आधारित है।इसका निर्माण भारत सरकार के फिल्म प्रभाग ने किया है। 51वें भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) में इस फिल्म की स्क्रीनिंग की गई।

गुरुवार को स्क्रीनिंग के बाद आयोजित हुए संवाददाता सम्मेलन में निर्देशक ने कहा कि इसे किसी के जीवनी आधारित फिल्म के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए। यह फिल्म बिना किसी शर्त के तीन आम व्यक्तियों द्वारा किए गए सराहनीय काम के बारे में बताती है। निर्देशक ने कहा कि “ये तीनों व्यक्ति पिछले कई सालों से अपने आसपास लोगों की ज़िंदगी बचाने के लिए चुपचाप और अकेले ही काम कर रहे हैं, ताकि संपूर्ण मानव जाति और इकोसिस्टम का भला हो सके।समाज में ऐसे बहुत सारे लोग हैं, जो ज़मीनी स्तर पर सेवा कार्य कर रहे हैं, और बदले में उन्हें कुछ नहीं चाहिए।”

फिल्म में सड़क दुर्घटना से संबंधित दृश्यों के बारे में बात करते हुएनिर्देशक ने कहा, “मैं दुर्घटना को दिखाने के पक्ष में नहीं थी। यह मेरे लिए बड़ी चुनौती थी। दुर्घटना के दृश्यों को शूट करने और दर्शकों को दिखाने के लिए मेरी आत्मा मेरा साथ नहीं दे रही थी। कई लोगों ने इसे देखने से मना कर दिया। लेकिन मैंने सड़क दुर्घटना और इससे होने वाले नुकसान को दृश्यों में संजोने और दर्शकों को दिखाने का फैसला किया। मैंने इसके लिए मोंटाज का इस्तेमाल किया। दुर्घटना से संबंधित सभी संदेश को इस माध्यम से प्रदर्शित करने का प्रयास किया गया।”फिल्म में तीन समानांतर कहानियों को बताने के लिए अतियथार्थवाद और रूपकों का इस्तेमाल किया गया।

फिल्म में दिखाए गए ज़मीनी स्तर पर काम करने वाले सामान्य लोग, दूसरों के लिए अपना जीवन समर्पित कर रहे हैं। निर्देशक ने बताया कि, इसीलिए फिल्म का नाम ‘इंवेस्टिंग लाइफ’ रखा गया है।फिल्म के पीछे अपनी सोच के बारे में बात करते हुए निर्देशक केंडाले ने कहा, “जीवनी पर आधारित फिल्म ख्याति प्राप्त महान लोगों के जीवन पर बनाई जाती हैं। लेकिन, वास्तव में हर एक जीवित व्यक्ति और आम इन्सान किसी न किसी रूप में दुनिया में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। ऐसे सभी व्यक्तियों की भूमिका सराहनीय और महत्वपूर्ण होती है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.