यूपी के कासगंज में विकलांग ने ली जान, मूकदर्शक बनी रही जनता

अंकित कुमार

कासगंज (उत्तर प्रदेश)। महाकवि तुलसीदास की जन्म स्थली सोरों, जो उत्तर प्रदेश के कासगंज जिला में स्थिति है, से एक लोमहर्षक घटना सामने आई है। बताया जाता है कि थाना सोरों क्षेत्र के ग्राम होड़लपुर में एक दिव्यांग युवक जिसका नाम देव किशन उर्फ मोनू बताया जा रहा है, ने एक महिला जामवती उर्फ रामवती, पत्नी शिव शंकर की सरेआम दो गोली मार कर हत्या कर दी।

जहाँ कोरोना की इस महामारी के दौर में जिले में तीन लोग मौजूदा समय में कोरोना पॉजिटिव हैं, जिससे प्रशासन के हाथ पैर फूल रहे हैं, साथ ही गुरुवार दिनदहाड़े की घटना ने इलाके में सनसनी मचा दी है।

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में साफ़ दिख रहा है कि महिला मदद के लिए चिल्लाती रही, लेकिन दिव्यांग ने उसकी एक नहीं सुनी। सबसे शर्म की बात ये है कि मोहल्ले के लोग छत से इस घटना का वीडियो बनाते रहे, लेकिन किसी ने महिला को बचाने की कोशिश नहीं की।

आरोपी दिव्यांग युवक मोनू महिला को दो गोली मारकर फरार हो गया और लोग मूक दर्शक बने रहे। सूत्रों के मुताबिक आरोपी मोनू स्थानीय बीजेपी नेता का रिश्तेदार है, और उसका महिला से घर को लेकर विवाद चल रहा था। फ़िलहाल पुलिस ने आरोपी को उसके पड़ोसी के घर से गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी ने गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस टीम पर भी ताना तमंचा

आरोपी दिव्यांग कितना दबंग प्रवृत्ति का है इसका अंदाजा इसी बात से किया जा सकता है कि उसे गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस की टीम के इंस्पेक्टर पर ही तमंचा तान दिया। दरअसल, हत्या की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मोनू अपने पड़ोस के ही घर में छिपा था।

डॉक्टरों ने किया महिला को मृत घोषित
दो गोली लगने के बाद गंभीर रूप से घायल महिला को जिला अस्पताल पहुंचाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया, महिला के पति की पहले ही मौत हो चुकी है और उसकी कोई औलाद भी नहीं है। वह घर में में अकेली रहती थी। उसके मकान पर आरोपी दिव्यांग मोनू कब्जा करना चाहता था।

पड़ोसी छत से बनाते रहे वीडियो
वारदात सुबह 10 बजे की बताई जा रही है। विवाद के दौरान पडोसी छत से वीडियो बनाते रहे, लेकिन किसी ने आरोपी को रोकने की हिम्मत नहीं जुटाई। एडीजी आगरा जोन अजय आनंद ने बताया कि वीडियो बना रहे लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि अगर लोग वीडियो बनाने की जगह आरोपी को रोकने की कोशिश करते तो वारदात को रोका जा सकता था। उन्होंने कहा कि आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.