ट्रैक्टर रैली में किसानों ने किया पथराव, पुलिस ने छोड़े आंसू गैस के गोले

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली:  किसान संगठनों के द्वारा निकाली गयी ट्रैक्टर रैली अब बेकाबू हो गयी है। दिल्ली के कई इलाकों में पुलिस और किसानों के बीच झड़प हुई है, हालांकि अभी तक किसी के घायल होने की कोई खबर नहीं है। लेकिन कई जगहों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़कर किसानों को रोकने का प्रयास किया है, जबकि किसानो के द्वारा पथराव शुरू कर दिया गया है।

अक्षरधाम के पास किसानों ने जबरदस्ती बैरिकेड तोड़ दिया गया। किसान प्रगति मैदान होते हुए राजपथ जाने की जिद कर रहे थे। वहीँ कुछ किसानो ने लाल किला जाने की जिद कर रहे हैं और पुलिस ने उन्हें आईटीओ चौराहे के पास रोकने की कोशिश की तो पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया गया है। किसानों का एक जत्था लाल किला पहुँच चुका है। प्रदर्शनकारी किसान पुलिसकर्मियों पर पथराव कर रहे हैं। जवाब में पुलिस भी आंसू गैस के गोले छोड़ रहे हैं।

किसान पूरी तरह से निर्धारित रूट को तोड़कर दिल्ली में घुस चुके हैं। दिल्ली पुलिस और किसान संगठनों के बीच ट्रैक्टर रैली निकालने के लिए रूट निर्धारित किया गया था। लेकिन अब किसान अनुशासन तोड़ चुके हैं। सुरक्षा गहरा टूट चुका है। पुलिस रोड के साइड में खड़ी है। किसान लाल किले की ओर बढ़ रहे हैं।

ट्रैक्टर रैली के दौरान कुछ जगह पर हिंसा के चलते डीएमआरसी ने कुछ मेट्रो स्टेशन पर एंट्री और एग्जिट दोनों गेट बंद किए। ये स्टेशन हैं- समयपुर बादली, रोहिणी सेक्टर 18/19, आजादपुर, आदर्श नगर, जीटीबी नगर, विश्वविद्यालय, विधानसभा, सिविल लाइन्स।

किसान आंदोलन के नेतृत्व की कमान किसान नेता राकेश टिकैट ने मीडिया से बात करते कहा, ‘ट्रैक्टर रैली शांतिपूर्ण तरीके से चल रही है। मेरी जानकारी में ये नहीं है कि किसान हंगामा कर रहे हैं। मैं तो गाजीपुर बॉर्डर पर हूं। यहां ट्रैफिक कंट्रोल कर रहा हूं। तिरंगा हमारी आन-बान-शान है। हमारा आंदोलन जारी रहेगा। दिल्ली से किसान वापस लौट जाएंगे।

वहीँ किसानों की ट्रैक्टर रैली पर यूपी के ADG (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा, ‘अभी तक पूरे उत्तर प्रदेश में सब कुछ सकुशल चल रहा है। सभी लोग हमारे किसानों से लगातार वार्ता कर रहे हैं। अभी तक शांति है। उत्तर प्रदेश में कहीं भी लाठीचार्ज नहीं किया गया है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.