चक्रवात ‘अम्फान ‘ की चपेट में बंगाल-ओडिशा

न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल और ओडिशा में चक्रवात अम्फान की लैंडफॉल प्रकिया शुरू हो चुकी है। बताया जा रहा है कि ओडिशा और पश्चिम बंगाल में तेज हवाओं की वजह से काफी नुकसाना हुआ है।  अभी तक दोनों राज्यों से दो दो लोगों की मौत की खबर है जबकि ओडिशा में तैनात एनडीआरएफ की सभी 20 यूनिट्स राज्य में राहत बचाव कार्य में जुटीं हुई है।  इतने ही यूनिट्स पश्चिम बंगाल में भी राहत एवं बचाव कार्य के लिए तैनात की गई हैं।

अधिकारियों ने बताया कि पश्चिम बंगाल में बुधवार को 190 किमी प्रति घंटे की रफ्तार वाले विकराल चक्रवात अम्फान के कारण भारी तबाही हुई और कम से कम 2 लोगों की मौत हो गई है।  अधिकारियों के अनुसार अब तक दोनों राज्यों के प्रभावित जगहों से कम से कम 6। 58 लाख लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा चूका है।  मौसम विभाग के अनुसार पश्चिम बंगाल तट पर पहुचने के समय चक्रवात के केंद्र के पास हवा की गति 160-170 किमी प्रति घंटे थी।

बताया जा रहा है कि कोलकाता के समीपवर्ती दक्षिण 24-परगना जिले और पूर्वी मिदनापुर के तटीय भाग दीघा और हल्दिया में नामखाना, फ्रेज़रगंज, सागर द्वीप और काकद्वीप जैसे क्षेत्रों में भारी बारिश शुरू हो गई है। कोलकाता की गलियों में जलजमाव हो गया है और तेज हवाओं के चलते पेड़ उखड़ गए हैं। मकानों को भी नुकसान पहुंचा है। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिम बंगाल तट पर पहुचने के समय चक्रवात के केंद्र के पास हवा की गति 160-170 किमी प्रति घंटे थी।  एक अधिकारी ने बताया कि हावड़ा और उत्तरी 24 परगना जिले में पेड़ उखड़ने से दो महिलाओं की मौत हो गई।

एनडीआरएफ के महानिदेशक एस एन प्रधान ने नयी दिल्ली में कहा कि ओडिशा में 20 टीमों को तैनात कर दिया गया है जबकि पश्चिम बंगाल में 19 टीमों को तैनात किया गया है।  उन्होंने कहा कि ओडिशा में एनडीआरएफ की टीमों ने सड़कों को साफ करने का अभियान शुरू कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.