बहराइच के मस्जिद में नमाज के लिए जुटी भीड़, रोकने पर किया पुलिस पर हमला

शिवानी रजवारिया

नई दिल्कोली: कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए सरकार पूरी शिद्दत से कोशिश कर रही है और इसी कारण सभी से समाजिक दूरी का पालन करने की अपील की जा रही है। मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरुद्वारा सभी धर्मों के द्वार बंद है। किसी का भी आना जाना निषेध कर दिया गया है। सभी धर्म गुरु लगातार लोगों से अपील कर रहे हैं कि वह घरों में बैठकर ही पूजा-पाठ व नमाज अदा करें मगर कुछ बुद्धिहीन इन नियमों का उल्लंघन करने से पीछे नहीं हट रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के बहराइच के बौंडी थाना क्षेत्र में स्थित एक मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए गए लोगों को रोकने पर भीड़ ने पुलिस टीम पर ही हमला कर दिया। जिले के अन्य थाना क्षेत्र से पुलिस टीम पर हमला करने की घटना सामने आई है। घटना में शामिल 32 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। अलावा खैरी घाट थाना क्षेत्र के तेलियनपुरवा में भी शुक्रवार की दोपहर मस्जिद में सामूहिक रूप से नमाज़ पढ़ने से रोकने पर लोगों की पुलिस से झड़प हो गई और नमाजियों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। इस पथराव में 6 पुलिसकर्मियों को चोट आई है। घायलों का शिवपुर पीएचसी में इलाज कराया गया है। हमलावर मौके से फरार हैं।

ग्रामीणों की शिकायत पर बौंडी के डिहवाकलां गांव में शुक्रवार को पुलिस मस्जिद में नमाज पढ़ रहे नमाजियों को रोकने के लिए पहुंची। पुलिस ने मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए मना किया इस बात को लेकर नमाजियों ने सिपाही पर हमला कर दिया हमले की सूचना मिलते ही भारी संख्या में पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई और 23 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। एसओ ब्रह्मानंद सिंह ने बताया कि मस्जिद में नमाज अदा करा रहे मौलाना सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपियों के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन और जानलेवा हमले समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।

यह हाल तब है जब देश के प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद के प्रमुख मौलाना अरशद मदनी ने कोरोना संकट के मद्देनजर मुस्लिम समुदाय से यह अपील की है कि वे रमजान के पवित्र महीने में भी लॉकडाउन और सामाजिक दूरी का पालन करते हुए अपने घर पर ही इफ्तार और इबादत करें। मदनी ने एक बयान में यह भी कहा कि घर पर भी नमाज और इफ्तार के समय सामाजिक दूरी का ख्याल रखा जाए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.