एक जून से सीएपीएफ की कैंटीनों में केवल स्वदेशी उत्पादों की बिक्री होगी

नई दिल्ली। केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को कहा कि केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) जैसी केन्द्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की सभी कैंटीनों में एक जून से केवल स्वदेशी उत्पादों की ही बिक्री होगी। शाह ने कहा कि सीएपीएफ के करीब 10 लाख जवानों के परिवार के 50 लाख सदस्यों के लिए स्वदेशी उत्पादों की बिक्री की जाएगी।

शाह ने इस संबंध में कई ट्वीट किए और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने और भारत में बने उत्पाद उपयोग करने की अपील की जिसके बाद गृह मंत्रालय ने यह निर्णय लिया है। शाह ने देश के लोगों से स्वदेश निर्मित उत्पादों का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करने और लोगों को भी ऐसा ही करने के लिए प्रेरित करने की अपील की। उन्होंने कहा,‘‘गृह मंत्रालय ने यह निर्णय लिया है कि सभी केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) की कैंटीनों पर अब सिर्फ स्वदेशी उत्पादों की ही बिक्री होगी। यह एक जून 2020 से देशभर की सभी सीएपीएफ कैंटीनों पर लागू होगा। इससे लगभग 10 लाख सीएपीएफ कर्मियों के 50 लाख परिजन स्वदेशी वस्तुओं का उपयोग करेंगे।’’

सीएपीएफ में सीआरपीएफ, बीएसएफ, सीआईएसएफ, आईटीबीपी, एसएसबी, एनएसजी और असम रायफल्स आते हैं और इनकी कैंटीनों में सालाना 2,800 करोड़ रुपए मूल्य के उत्पादों की बिक्री होती है। उन्होंने देश को आत्मनिर्भर बनाने और भारत में बने उत्पाद उपयोग करने की प्रधानमंत्री की मंगलवार को जनता से की गई अपील का जिक्र करते हुए कहा कि इससे यकीनन आने वाले वक्त में भारत के विश्व में अग्रणी होने का मार्ग प्रशस्त होगा। उन्होंने कहा,‘‘ हर भारतीय अगर भारत में बने उत्पादों (स्वदेशी) का उपयोग करने का संकल्प ले तो पांच वर्षों में देश आत्मनिर्भर बन सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.