भारत चीन के सैन्य कमांडरों के बीच बातचीत ख़त्म, नतीजों का इंतज़ार

न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: भारत और चीन के बीच कुछ दिनों से सीमा को लेकर चल रहा विवाद सुलझाने के लिए दोनों देशों के सैन्य कमांडरों के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के चीनी पक्ष में मोल्डो में चल रही बैठक समाप्त हो गयी है। दोनों देशों के बीच पूर्वी लद्दाख में LAC पर गतिरोध पर चर्चा के लिए यह बैठक बुलाई गई थी।  भारत की तरफ से इस बैठक का नेतृत्व लेह स्थित 14वीं कोर के कमांडर, लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह कर रहे थे। अब वे लेह लौट रहे हैं। ये मीटिंग शनिवार सुबह साढ़े 11 बजे शुरू हुई और शाम 5 बचे तक चली। चीन की तरफ से मेजर जनरल लियु लीन नेतृत्व कर रहे थे।

भारत और चीनी सेनाओं की तरफ से सीमा विवाद को सुलझाने के ये बड़ा प्रयास था। इस से पहले दोनों देशों ने शुक्रवार को एक कूटनीतिक वार्ता की, जिसके दौरान उन्होंने एक-दूसरे की संवेदनशीलता और चिंताओं का सम्मान करते हुए शांतिपूर्ण चर्चा के माध्यम से अपने मतभेद को दूर करने की सलाह दी।

सैन्य अधिकारियों के बीच हुए बातचीत में इस पक्ष पर सहमति हुई कि 2018 में चीन के वुहान में एक अनौपचारिक शिखर सम्मेलन में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग द्वारा लिए गए निर्णयों के अनुसार मतभेदों को सुलझाने चाहिए।

भारतीय सेना की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि भारत और चीनी अधिकारी भारत-चीन सीमा क्षेत्रों में मौजूदा स्थिति को दूर करने के लिए स्थापित सैन्य और कूटनीतिक चैनलों के माध्यम से बातचीत कर रहे हैं।

इससे पहले समाचार एजेंसी एएनआइ ने सूत्रों के हवाले से जानकारी दी कि भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच बैठक सुबह 11 से 11:30 बजे के बीच होगी।सेना ने बताया कि पहले यह बैठक सुबह लगभग 9 बजे शुरू होने वाली थी ।

इससे पहले आर्मी के सूत्रों ने जानकारी दी थी कि भारत और चीन के अधिकारियों के बीच आज सुबह बड़ी बैठक होने जा रही है। पूर्वी लद्दाख में LAC के साथ चल रहे विवाद पर चर्चा करने के लिए वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के चीनी क्षेत्र मोल्डो में आज भारत और चीन के सैन्य कमांडरों की बैठक होगी। इस बैठक में भारत और चीन के बीच लद्दाख में एक महीने से जारी गतिरोध को खत्म करने की कवायद की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.