आठ पुलिसकर्मियों के हत्यारे विकास दुबे का घर जेसीबी से ढहाया गया

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के आठ पुलिसकर्मियों की मौत का कारण बना विकास दुबे का घर जेसीबी की मदद से ढहा दिया गया है। बताया जा रहा है कि पुलिस ने उसी जेसीबी का इस्तेमाल किया जिसे विकास ने पुलिस को रोकने में उपयोग किया था। इसके साथ ही पुलिस ने विकास के घर में मौजूद वाहनों को भी जब्त कर लिया है। विकास के घर में फॉर्च्यूनर और स्कॉर्पियों दो गाड़ियां मौजूद थीं। इनमें से एक गाड़ी विकास के नाम पर है, जबकि दूसरी गाड़ी किसी अमन तिवारी के नाम पर रजिस्टर्ड है। एक अन्य सूचना में चौबेपुर थाने के प्रभारी विनय कुमार को सस्पेंड कर दिया गया है। उनपर आरोप है कि विकास को पकड़ने गयी पुलिस के बारे में उन्होंने सूचनाएं लीक की। उनके खिलाफ जांच के भी आदेश दिए गए हैं।
विकास को पकड़ने के लिए पुलिस की 25 से ज्यादा टीमें उत्तर प्रदेश और अन्य प्रदेशों में लगातार छापेमारी कर रही हैं, लेकिन कई घंटे बीत जाने के बाद भी वो अब तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। कानपुर के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) मोहित अग्रवाल ने विकास दुबे के बारे में सही जानकारी देने वाले को 50 हजार रुपये का इनाम भी देने की घोषणा की है। साथ ही जानकारी देने वाले की पहचान गुप्त रखी जाएगी।

गौरतलब है कि गुरुवार देर रात कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र के गांव बिकरू निवासी कुख्यात अपराधी विकास दुबे को उसके गांव पकड़ने पहुंची पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया था। इस हमले में एक क्षेत्राधिकारी, एक थानाध्यक्ष समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे। इसके अलावा मुठभेड़ में पांच पुलिसकर्मी, एक होमगार्ड और एक आम नागरिक घायल भी हुआ है। पुलिस ने भी दो बदमाशों को मार गिराया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.