“मैं कोरोना पॉजिटिव हूं” कहकर गाड़ी के आगे लेट गया..

शिवानी रजवारिया

कोरोना संक्रमण के बढ़ते आंकड़ों ने सभी राज्यों में उथल-पुथल मचा दी है। दिन पर दिन संक्रमण के मरीज बढ़ रहे हैं और अस्पतालों में बेड की कमी आ रही है।  मरीजों का बढ़ना और सुविधाओं का ना होना बहुत तकलीफ दे रहा है। अभी हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भी ऐलान किया कि किसी भी दूसरे राज्य के मरीजों का इलाज दिल्ली के अस्पतालों में नहीं होगा। यह घोषणा आश्चर्यचकित कर देने वाली थी। संक्रमण के मामले बढ़ रहें हैं और सरकार ऐसा कैसे कर सकती है।

अब उत्तर प्रदेश मेरठ से आ रही घटना जो मेडिकल सुविधाओं पर सवाल खड़े कर रही है इस घटना को पूरी तरह जानने के बाद ही आप इसका अंदाजा लगा पाएंगे कि इस घटना का क्या सही निष्कर्ष निकलता है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में बेगमपुर चौराहे पर एक युवक ने हंगामा मचा दिया। खुद को कोरोना पॉजिटिव बता कर वह एक कार के आगे लेट गया और बार-बार जोर से चिल्ला कर कहने लगा कि “मुझे छूना मत मैं कोरोना पॉजिटिव हूं”।

युवक अपनी कोरोना की जांच करवाना चाहता है और स्वास्थ्य विभाग से कोई मदद नहीं मिल रही। उसने बताया कि वह कोरोना पॉजिटिव है और कोई भी अस्पताल उसकी जांच करने को तैयार नहीं है। उसने  स्वास्थ्य विभाग पर लापरवाही के आरोप भी लगाए। फिलहाल सदर बाजार पुलिस ने उसे समझा कर एंबुलेंस की मदद से अस्पताल जांच के लिए भेज दिया है।

दरअसल, एक युवक बीच बाजार में कार के आगे आकर लेट गया और खुद को कोरोना पॉजिटिव बताने लगा। यह सुनकर बाजार में हरकंप मच गया। लोग उस से दूरी बनाने लगे और पुलिस भी युवक से पीछे हट कर बात करने लगी। उसे एक जगह बिठाया गया और पानी पिलाया गए। उससे बात करके पूरी जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने तुरंत स्वास्थ्य विभाग में रिपोर्ट की और स्वास्थ्य विभाग की टीम एम्बुलेंस लेकर तुरंत मौके पर पहुंची, युवक से बात की।

युवक से पूछा गया क्या तुम्हें बुखार है तो उसने कहा अब नहीं है।  क्या तुम्हें खांसी है अब ठीक है, क्या तुम्हें सांस लेने में परेशानी हो रही है उसका जवाब था अब नहीं हो रही।  जांच टीम ने बताया कि वह स्वस्थ है फिर भी पुलिस ने उसे जांच के लिए अपने साथ ले जाने के लिए कहा पर युवक उनके साथ जाने के लिए आनाकानी करने लगा।

इस पर पुलिस ने उसे समझा-बुझाकर उनके साथ भेजा और जांच के लिए कहा ताकि यह पता चल सके कि वह झूठ बोल रहा था या सच। सदर बाजार के एस ओ ने बताया घटना की सूचना लगने पर तुरंत स्वास्थ्य विभाग को सूचित किया गया एम्बुलेंस टीम मौके पर पहुंची और उस युवक से बात की। पर जब युवक से बात की गई तो उसके बात करने का अंदाज ही बदल गया। कहां तो वो जोर से चिल्ला रहा था कि वह कोरोना पॉजिटिव है वही एंबुलेंस टीम के सवालों के जवाब मैं खुद को ठीक बताने लगा। युवक खुद को कंकरखेड़ा का रहने वाला बता रहा है। फिलहाल उसको अस्पताल जांच के लिए भेज दिया गया है अब स्वास्थ्य विभाग ही यह तय करेगा कि उसकी जांच होनी है या नहीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.