लॉकडाउन में दिल्ली में कम से कम छूट दी जानी चाहिए : स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन

न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन का कहना है कि दिल्‍ली जैसे शहरों में जहाँ अभी कोरोना वायरस संक्रमण की संख्या बढ़ रही है, वहां लॉकडाउन में कम से कम छूट दी जानी चाहिए। डॉ. हर्षवर्धन  ने कहा कि, ‘मेरी व्यक्तिगत राय है कि लॉकडाउन 3.0 के अंदर दिल्ली जैसी जगह पर कम से कम छूट दी जानी चाहिए। गृह मंत्रालय ने विस्तार से गाइडलाइन्स जारी की हैं। फिर भी राज्य अपनी स्थिति के हिसाब से निर्धारित कर सकते हैं कि किस गाइडलाइन को किस मात्रा में उपयोग करना है।’

आज सुबह दिल्ली में लॉकडाउन 3 के दौरान शराब व अन्‍य दुकानों को खोलने की छूट मिलने के बाद कई दुकानों के बाहर भारी संख्‍या में लोग नजर आ रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का भी लोग पालन नहीं कर रहे हैं, जो आने वाले दिनों में कोरोना संक्रमण को फ़ैलाने में सहायक हो सकता है.

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने इस पर कहा कि अगर वो कुछ इस बारे में कहेंगे तो इसे राजनितिक बयानबाजी समझा जाएगा. उन्होंने कहा कि दिल्‍ली गिने-चुने उन प्रदेशों में से हैं, जहां की कोरोना वायरस की स्थिति को नियंत्रित करने के लिए अभी और गंभीरता से कदम उठाने की आवश्‍यकता है। इस वजह से लॉकडाउन-3 के अंदर दिल्‍ली जैसी जगह में मेरे विचार में कम से कम छूट दी जानी चाहिए। हालांकि, ये निर्णय लेना राज्‍य सरकार का काम है।

साथ ही हर्षवर्धन ने कहा कि देश में कोरोना वायरस संक्रमण का डब्लिंग रेट 3 दिन था, जो 12 दिनों से ऊपर हो गया है। 11000 से ज्यादा लोग ठीक हो गए हैं, बाकि सारे लोग रिकवरी पर हैं। मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम है केवल 3%। रोजाना भारत में 75000 टेस्ट किए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि दिल्‍ली में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के 4549 मामले सामने आ चुके हैं और 64 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 427 नए लोगों में वायरस की पुष्टि की गई है। यह अब तक का एक दिन में कोरोना से संक्रमित होने का सबसे बड़ा आंकड़ा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.