विशाखापट्टनम गैस लीक के कारण पीएम मोदी ने बुलाई आपात बैठक

न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: विशाखापट्टनम में एलजी पॉलिमर उद्योग में रासायनिक गैस लीक होने की घटना को गंभीरता से लेते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली में आपात बैठक बुलाई जिसमे गृह मंत्री अमित शाह के आलावा रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भी थे।  घटना को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनडीएमए की आपात बैठक बुलाई, जिसमे हालात से निपटने के लिए किये जा रहे उपायों पर चर्चा हुई।

पीएम मोदी ने कहा कि “घटना के संबंध में गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एनडीएमए) के अधिकारियों से बात की है, मामले की कड़ी निगरानी की जा रही है। मैं विशाखापट्टनम में सभी की सुरक्षा और भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं।“

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि विजाग में गैस लीक की घटना परेशान करने वाली है, हम लगातार और करीब से घटना की निगरानी कर रहे हैं। मैं विशाखापट्टनम के लोगों की भलाई के लिए प्रार्थना करता हूं।

आरआर वेंकटपुरम गांव में गुरुवार की सुबह हुई इस घटना में सात लोगों की मौत हो गई जबकि 120 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी बीमारों से मिलने के लिए अस्पताल रवाना हो गए हैं।  कहा जाता है कि एलजी पोलिमर फैक्ट्री में रासायनिक गैस लीक हो गयी और देखते देखते ये ३ किलोमीटर तक फ़ैल गयी।  गैस लीक से तीन गाँव के लोग प्रभावित बताये जा रहे हैं।  विशाखापट्टनम के सीपी आरके मीणा ने कहा कि गैस को निष्प्रभावी कर दिया गया है। एनडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंच गई है। 100 से 120 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना में कुल तीन व्यक्तियों की मौत हुई है। एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने गैस लीक की घटना पर दुख जताते हुए पार्टी के स्थानीय नेताओं एवं कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे प्रभावित लोगों की हरसंभव मदद करें। राहुल गाँधी ने ट्वीट कर कहा कि ‘मैं विजाग (आंध्र प्रदेश) में गैस लीक के बारे में सुनकर स्तब्ध हूं। मैं इलाके के कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं से आग्रह करता हूं कि वे प्रभावित लोगों की हरसंभव मदद करें। पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। मैं अस्पताल में भर्ती लोगों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं।’

आध्रं प्रदेश के डीजीपी ने कहा कि अभी तक सात लोगों की मौत हो चुकी है। जिनमें से एक व्यक्ति की मौत भागने की कोशिश में कुएं में गिर जाने के कारण हुई। गैस लीक की घटना आज सुबह लगभग 3:30 बजे हुई। बचाव अभियान अभी भी जारी है। लॉकडाउन के चलते प्लांट बंद था।

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि गैस लीक में मरने वाले लोगों के परिवारों के प्रति मेरी संवेदना है। स्थिति का जायजा लेने के लिए मैंने राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी से बात की है। उन्होंने आगे कहा कि एनडीआरएफ की टीमों को आवश्यक राहत उपाय उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। हालात पर लगातार निगरानी रखी जा रही है। अभूतपूर्व और दुर्भाग्यपूर्ण घटना में सैकड़ों लोग प्रभावित हुए हैं। गृह सचिव और जीओआई से बात की है और उन्हें आवश्यक सहायता प्रदान करने का अनुरोध किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.