सैफ अली खान बोले- होता है भेदभाव बॉलीवुड में, मैं भी हुआ हूं नेपोटिज्म का शिकार

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: बॉलीवुड में अभी कोई एक टॉपिक पर सभी बात कर रहें हैं तो वो है, नेपोटिज्म। कई सारे एक्टर्स ने इस पर अपनी राय राखी है। सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या से उपजा ये विवाद अब भी जारी है। अब सैफ अली खान, जो खुद एक स्टार किड हैं और उनकी बेटी सारा अली खान भी फ़िल्मी दुनियां में अपना पाँव जमाने की कोशिश कर रही है, ने बॉलीवुड में नेपोटिज्म को लेकर एक बड़ा बयान दिया है।

सैफ ने कहा है कि वो खुद बॉलीवुड में नेपोटिज्म के शिकार हुए हैं। सैफ ने कहा, ”देश में गैरबराबरी है और इसे सामने लाने की जरूरत है। अगर मैं कहूँ कि इंडस्ट्री में मैं भी नेपोटिज्म का शिकार रहा हूं लेकिन इसके बारे में कोई बात नहीं करता। मैं खुश हूं कि फिल्म इंडस्ट्री से ज्यादा से ज्यादा लोग इसे लेकर सामने आ रहे हैं।”

बता दें कि सैफ अली खान ने सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म दिल बेचारा में कैमियो किया है। सुशांत की तारीफ़ करते हुए उन्होंने कहा था कि वो मुझसे भी जयादा जानता है। उन्होंने सुशांत को लेकर कहा, ”वो बहुत ही टैलेंटेड गुड लुकिंग एक्टर थे। मुझे लगता था कि उनका फ्यूचर बहुत ब्राइट होगा। वो मेरे साथ बहुत पोलाइट थे और मेरी गेस्ट अपीरियंस से खुश भी थे। वो कई विषयों के बारे में बात करता था जिनमें एस्ट्रोनॉमी और फिलॉस्फी शामिल है। मुझे ऐसा लगता था कि वो मुझसे भी ज्यादा जानता था।”

सुशांत की मौत के बाद सैफ अली खान ने कहा था कि जो सेलेबस सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर दुख जाता रहें हैं वो ढोंगी हैं। उन्होंने कहा था कि उनके जिंदा रहते किसी ने उनकी केयर नहीं की और अब  दिखावा कर रहे हैं। इससे पहले साल 2017 में भी एक अवॉर्ड शो में वरुण धवन और करण जौहर को मिले अवार्ड पर उन्होंने कमेंट किया था, ‘नेपोटिज्म रॉक।’ इसके बाद उन्होंने ओपन लेटर में बताया था कि बॉलीवुड में कितना भाई-भतीजावाद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.