चीन से आयातित 250 से ज्यादा सामानों पर बढ़ सकता है टैक्स

चिरौरी न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: गलवान घाटी में हुए २० सैनिकों की मौत के बाद देश में बढ़ते चीनी सामानों के बहिष्कार की मांग को देखते हुए भारत सरकार अब कुछ चायनीज सामानों जिनकी कीमत और गुणवत्ता कम है, पर इम्पोर्ट डयूटी बढाने के लिए वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय से सूची मांगी है। चीन से आयातित 250  सस्ते सामान भारत के घरेलू उत्पादनकर्ताओं को चौपट कर रहे हैं, और अब इसी के मद्देनज़र भारत सरकार कदम उठाने जा रही है।

सरकार की ओर से उन सस्ती वस्तुओं और सेवाओं की पूरी सूची हर मंत्रालय से मांगी गई है जो चीन से आयात की जाती है। सूत्रों के मुताबिक प्रधानमंत्री कार्यालय में हुई इस हाई लेवल बैठक में आत्मनिर्भर भारत अभियान को सशक्त करने के लिए चीन के आयात पर निर्भरता कम करने के उपायों पर विचार हुआ।
भारत चीन से मोबाइल फोन, दूरसंचार के अन्य उपकरण, बिजली का सामान, प्लास्टिक के खिलौने और चिकित्सीय उपकरण सहित दवाइयां आयात करता है जो उसके कुल आयात का 14% है।

उद्योगों को चीन से आयातित माल और कच्चे सामान की सूची के साथ टिप्पणियों सुझाव भेजने के लिए कहा गया है। इन सामानों में कलाई घड़ी, दीवार घड़ी, कांच की छड़े ट्यूब, हेयर क्रीम हेयर, शैंपू फेस पाउडर, आंख और होठों पर लगाने के लिए इस्तेमाल होने वाले काजल और लिपस्टिक जैसे मेकअप के सामान शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.