विकास दुबे एनकाउंटर को लेकर अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर लगाए गंभीर आरोप; कहा- खुल जाती यूपी सरकार की पोल

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने विकास दुबे के एनकाउंटर पर सवाल खड़ा किया है। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से इस एनकाउंटर की ज्यूडिशियल इन्क्वायरी कराने की मांग की है।

इस से पहले समाजवादी पार्टी ने अपने ट्वीटर पर लिखा, “विकास दुबे के साथ उन सभी सबूतों, साक्ष्यों का भी एनकाउंटर हो गया जिससे अपराधियों, पुलिस और सत्ता में बैठे उसके संरक्षकों का पदार्फाश होता! विकास के जरिए उन सभी को बचाने की कोशिश की है जो नेक्सेस में उसके मददगार रहे?आखिर उन सत्ताधीशों पर कार्रवाई का क्या जिनका नाम उसने स्वयं लिया।” इसके पहले सपा मुखिया अखिलेश यादव ने गाड़ी पलटने पर ट्वीट करके लिखा था, “दरअसल ये कार नहीं पलटी है, राज खुलने से सरकार पलटने से बचाई गयी है।

उन्होंने उत्तर प्रदेश के भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए पूछा कि विकास दुबे ने जिस तरह उज्जैन जाकर मंदिर में सरेंडर किया था वो जांच का विषय है। तस्वीरें बता रही हैं कि वो सरेंडर था। उन्होंने आरोप लगाया कि जिसका एनकाउंटर हुआ वो भाजपा नेताओं के संरक्षण में था। भाजपा सरकार को कानपुर के आईपीएस अधिकारी को हटाना पड़ा। उन्हें एसएसपी को हटाना पड़ा। थाने से पूरी पुलिस हटानी पड़ी। कहा गया कि पुलिस वाले ही मुखबिर थे। जिन्होंने छापेमारी की जानकारी दी थी। फिर पुलिस को बिना तैयारी कैसे भेजा गया।

अखिलेश यादव ने आरोप लगाया कि यूपी सरकार ने जान बूझकर ये एनकाउंटर कराया है ताकि राज से पर्दा न उठे। उन्होंने कहा कि सरकार विकास दुबे के कॉल डिटेल्स को सामने रखे। साथ ही उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि यदि विकास दुबे के फोन का कॉल डिटेल्स सार्वजनिक किया गया तो सारे पोल खुल जाएंगे। उन्होंने एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए कहा कि यूपी में वर्तमान सरकार ठोको नीति चला रही है। मैं हमेशा कहता रहा हूँ कि इन्हें पता ही नहीं है कि कौन किसको ठोकेगा। जिसका परिणाम है कि हमारे जवान शहीद हुए।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.