आईसीएमआर ने कहा देश में कोरोना का कम्यूनिटी ट्रांसमिशन नहीं

न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: देश में कोरोना के मामले दिन-दुनी रात चौगुनी की रफ़्तार से बढ़ कर 3 लाख के पार जानेवाला है, लेकिन इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च यानी आईसीएमआर के डीजी प्रोफेसर डॉक्टर बलराम भार्गव का कहना है कि भारत जैसे बड़े देश के हिसाब से यहां कोविड-19 की व्यापकता या प्रसार बहुत कम है। उन्होंने ये भी कहा है कि भारत में कोरोना वायरस का कम्यूनिटी ट्रांसमिशन यानी सामुदायिक प्रसारण नहीं हुआ है। स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर की प्रेस कॉन्फ्रेंस में डॉ बलराम भार्गव ने एक सवाल के जवाब में साफ किया कि यहां कम्यूनिटी ट्रांसमिशन नहीं हुआ है।

डॉक्टर भार्गव का कहना है कि लॉकडाउन के जो कदम उठाए गए उससे वायरस के संक्रमण को रोकने में मदद मिली और तेजी से इसके फैलने पर रोकथाम हुई, हालांकि शहरों में इसके प्रसार में थोड़ी तेज़ी है। स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने भी इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि आज देश का रिकवरी रेट 49.21 प्रतिशत है। फिलहाल ठीक होने वाले मरीजों की संख्या कोरोना वायरस के एक्टिव पेशेंट्स से ज्यादा है जो राहत की बात कही जा सकती है।

इस से पहले दिल्ली सरकार के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ये कहकर लोगों में खलबली मचा दी थी कि दिल्ली में कम्यूनिटी ट्रांसमिशन हो चुका है और जुलाई के अंत तक यहां 5.5 लाख कोरोना वायरस के मामलों का आंकड़ा पहुंच जाएगा।

देश में जानलेवा कोरोना वायरस से पिछले 24 घंटों में 357 मौत हुईं हैं। यह पहली बार है जब एक दिन में मौत का आंकड़ा 350 पार हुआ हो। वहीं 9996 नए मामले भी दर्ज किए गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, देश में अबतक 2 लाख 86 हजार 579 लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। इसमें से 8102 की मौत हो चुकी है, जबकि एक लाख 41 हजार लोग ठीक भी हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.