ब्रिटेन में भारतीय मूल की महिला इंजीनियरों की धूम, जानें क्या है उपलब्धियां

चिरौरी न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: भारतीय महिला इंजीनियरों की ब्रिटेन में धूम है। भारतीय मूल की पांच महिलाओं ने वर्ष 2020 के लिए ब्रिटेन की शीर्ष 50 महिला इंजीनियरों की सूची में जगह बनायी है। इनमें ‘यूके एटॉमिक एनर्जी अथॉरिटी’ की चित्रा श्रीनिवासन भी शामिल हैं। इनके अलावा ट्रांसपोर्ट इंजीनियर रितु गर्ग, भू-वैज्ञानिक इंजीनियर बरनाली घोष, जलवायु परिवर्तन विशेषज्ञ अनुषा शाह और वरिष्ठ इंजीनियर कुसुम त्रिखा इस सूची में शामिल हैं।

‘महिला इंजीनियरिंग दिवस’ पर मंगलवार को इसकी घोषणा की गयी। इंजीनियरिंग जगत के विशेषज्ञों ने ही इन 50 महिलाओं का चयन किया है। ऐसी सूची प्रकाशित करने का उद्देश्य इंजीनियरिंग क्षेत्र में महिला कर्मियों को प्रोत्साहित करना है। हर साल ‘वीमेन इंजीनियरिंग सोसायटी’ द्वारा इसका आयोजन किया जाता है।

बता दें कि चित्रा श्रीनिवासन यूके एटॉमिक एनर्जी अथॉरिटी में कार्यरत हैं और वे गरीबी मिटाने और पर्यावरण की सुरक्षा पर काम कर रही हैं। चित्रा श्रीनिवासन पर्यावरण की सुरक्षा के लिए ये ऐसे तकनीक के विकास पर काम कर रही हैं जहां जीरो कॉर्बन प्रोड्‌यूस हो।

वहीँ रितु गर्ग सीनियर ट्रांसपोर्ट इंजीनियर हैं। ये भी ब्रिटेन में जीरो कार्बन उत्सर्जन के लिए प्रयासरत है। डॉ बरनाली घोष सिविल इंजीनियर हैं और ये भूकंपरोधी इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर रिसर्च कर रही हैं। इनका फोकस ऐसे इंफ्रास्टक्चर को तैयार करना है जो भूकंप के समय भी सुरक्षित रहे। अनुषा शाह भी सिविल इंजीनियर हैं। और इन्होंने क्लाइमेंट चेंज पर कई अवयरनेस कार्यक्रम भी चलाये हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.