ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में कोरोना टीकाकरण के बारे में “जान है तो जहान है” जागरूकता अभियान शुरू किया जाएगा: नकवी

चिरौरी न्यूज़

नई दिल्ली: केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने आज यहां कहा कि देश के ग्रामीण और दूरदराज के इलाकों में कोरोना टीकाकरण के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए 21 जून 2021 को एक राष्ट्रव्यापी “जान है तो जहान है” जागरूकता अभियान शुरू किया जाएगा। इस अभियान द्वारा मौजूदा टीकाकरण अभियान के संबंध में कुछ निहित स्वार्थों द्वारा फैलाई जा रही अफवाहें और आशंकाएं भी दूर की जाएंगी।

नकवी ने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय विभिन्न सामाजिक-शैक्षिक संगठनों, गैर-सरकारी संगठनों और महिला स्वयं सहायता समूहों के साथ जागरूकता अभियान शुरू करेगा।

उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक बहुल जिला रामपुर (उत्तर प्रदेश) से राष्ट्रव्यापी जागरूकता अभियान की शुरूआत की जाएगी और देश के विभिन्न हिस्सों में भी इसका आयोजन किया जाएगा।

लोगों को टीकाकरण के लिए विभिन्न धर्मगुरु, सामाजिक, शैक्षिक, सांस्कृतिक, चिकित्सा, विज्ञान और अन्य क्षेत्रों के प्रमुख लोग प्रभावी संदेश देंगे। अभियान के तहत देशभर में नुक्कड़ नाटक भी आयोजित किए जाएंगे।

नकवी ने कहा कि कुछ लोग निहित स्वार्थ के लिए देश के कुछ क्षेत्रों में कोरोना के टीके को लेकर अफवाहें और आशंकाएं फैलाने की कोशिश कर रहे हैं। ऐसे तत्व लोगों के स्वास्थ्य और कल्याण के दुश्मन हैं।

अल्प संख्यक कार्य मंत्री ने कहा कि दो “मेड इन इंडिया” कोरोना टीके हमारे वैज्ञानिकों की कड़ी मेहनत का परिणाम हैं और यह वैज्ञानिक रूप से सिद्ध हो चुका है कि ये टीके कोरोना के खिलाफ लड़ाई में पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावी हथियार हैं।

उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की ”नई रोशनी” योजना के तहत कार्यरत राज्य हज समितियां, वक्फ बोर्ड, उनसे जुड़े संगठन, केंद्रीय वक्फ परिषद, मौलाना आजाद शैक्षणिक प्रतिष्ठान, विभिन्न सामाजिक एवं शैक्षणिक संस्थान, गैर सरकारी संगठन, महिला स्वयं सहायता समूह। जागरूकता अभियान “जान है तो जहान है” का हिस्सा बनेंगे। ये संगठन लोगों को कोरोना महामारी से निपटने के लिए टीका लगवाने के लिए प्रोत्साहित और प्रेरित भी करेंगे।

दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी सहित विभिन्न क्षेत्रों के धार्मिक नेता और प्रमुख लोग; फतेहपुरी मस्जिद, दिल्ली के इमाम, डॉ. मुफ्ती मुकर्रम अहमद; जैन गुरु आचार्य लोकेश मुनि; दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष श्री मनजिंदर सिंह सिरसा; अजमेर शरीफ दरगाह सज्जादनशीन सैयद ज़ैनुल अबेदीन; अंजुमन सैय्यद जदगान, दरगाह अजमेर शरीफ अध्यक्ष हाजी सैयद मोइन हुसैन; दरगाह अजमेर शरीफ खादिम जनाब सैयद गुलाम किब्रिया दस्तगीर; अखिल भारतीय सूफी सज्जाद नशीन अध्यक्ष सैयद नसरुद्दीन चिश्ती; दरगाह निजामुद्दीन, दिल्ली सज्जाद नशीन सैयद हम्माद निजामी; शिया मस्जिद, दिल्ली इमाम मौलाना मोहम्मद अली मोहसिन तकवी; इंटर फेथ हार्मनी फाउंडेशन ऑफ इंडिया के संस्थापक डॉ. ख्वाजा इफ्तिखार अहमद; अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. तारिक मंसूर; अखिल भारतीय इमाम संगठन के प्रमुख इमाम डॉ.उमेर अहमद इलियासी; प्रसिद्ध न्यूरोसर्जन डॉ. माज़दा ट्यूरेल; निदेशक यूनेस्को परज़ोर और जियो पारसी डॉ. शेरनाज़ काम, विभिन्न ईसाई और बौद्ध धार्मिक नेता; फिल्म, टेलीविजन और अन्य क्षेत्रों की हस्तियां प्रभावी संदेश देंगी और कोरोना टीकाकरण पर जागरूकता पैदा करने की अपील करेंगी।

नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार भारत में विश्व का सबसे बड़ा कोरोना टीकाकरण अभियान चला रही है। देश में अब तक करोड़ों लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। भारत उन देशों की तुलना में कोरोना टीकाकरण में बहुत आगे है जिनके पास पहले से ही बेहतर संसाधन और सुविधाएं थीं।

नकवी ने कहा कि सरकार और समाज ने एकजुट होकर प्रतिबद्धता, संकल्प और आत्मसंयम से कोरोना को हराने का काम किया है और देश संकट से बाहर आ रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *