विवादित नक्शे को नेपाल की संसद ने दी मंजूरी

न्यूज़ डेस्क

नई दिल्ली: भारत के सीमावर्ती क्षेत्रों लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा को नेपाल ने अपने राजनीतिक नक़्शे में दिखाने सम्बंधित संविधान संशोधन विधेयक को नेपाल की संसद ने आज मंजूरी दे दी है।  यह संविधान संशोधन विधेयक अब राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी के पास अनुमोदन के लिए भेजा जाएगा। विधेयक का नेपाल के विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस और जनता समाजवादी पार्टी नेपाल ने संसद में सरकार का समर्थन किया।

भारत के साथ सीमा विवाद के बीच विवादित नए नक्शे को लेकर संविधान संशोधन बिल पर चर्चा और वोटिंग के लिए नेपाल संसद का विशेष सत्र शनिवार को शुरू हुआ था।

नेपाल का भारत के साथ सीमा  विवाद तब शुरू हुआ जब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 8 मई को उत्तराखंड के धारचूला से लिपुलेख पास को जोड़ने वाली 80 किलोमीटर लंबी रणनीतिक सड़क का उद्घाटन किया।  नेपाल की सरकार ने आधिकारिक रूप से इस बात का विरोध भारत सरकार से दर्ज कराया था, जिसे भारत ने नामंजूर कर दिया था।

नेपाल इसके बाद पिछले महीने रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर दावा करते हुए देश का संशोधित राजनीतिक और प्रशासनिक नक्शा जारी किया। इसमें उसने लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा के कुल 395 वर्ग किलोमीटर के भारतीय इलाके को अपना बताया था। इसके बाद से दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.