स्टोरी और थ्रिल का कॉकटेल है स्पेशल ऑप्स

आकांक्षा सिंह

नई दिल्ली: कोरोना वायरस की वजह से हम सभी घरों में कैद हो कर रह गए है। ऐसे वक्त में घर पर रहना ही समझदारी का कार्य है। इस खाली समय में सब अपने मन पसंद शो को देख सकते है। ऐसे में कुछ दिनों पहले आया एक वेब सीरीज हॉटस्टार पर काफी ट्रेंड में चल रहा है। ‘स्पेशल ऑप्स’ यह वेब सीरीज कुल आठ एपिसोड्स का है, इसे नीरज पाण्डे ने डायरेक्ट किया है।

निर्देशक नीरज पांडे को सरकारी एजेंसियों की कार्यशैली पर फ़िल्म बनाने में बेहद रुचि है। उनकी फिल्म ए वेडनेस डे, स्पेशल 26, अय्यारी में हम यह बात देख चुके हैं। सरकारी कार्यशैली की हर एक बात को वह काफी बारीकी से दिखाते है। ‘स्पेशल ऑप्स’ में भी ऐसा ही कुछ खास है,यह कहानी स्पेशल इंटेलिजेन्स की है। केके मेनन इसमें मुख्य किरदार निभा रहे है। सीरीज की पूरी कहानी एक शख्स को ढूंढने में निकल जाती है जिसने 2001 में संसद पर हमला किया था। केके मेनन एक रॉ एजेंट का किरदार निभा रहे है और उसी ने पूरे देश में अपने एजेंट्स बिछा रखे है उस एक गुनहगार को ढूंढने के लिए।

एक एजेंट को आम तौर पर कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है, कैसी सिचुएशन से हर रोज़ लड़ना पड़ता है यह सारी बात इस सीरीज में दिखाई गई है। एक एपिसोड में इसमें प्रधानमंत्री के नोट बंदी का भाषण भी दिखाया गया है। इस सीरीज की सबसे खास बात यह है इसे डायरेक्ट करने वाले नीरज पांडे है जो यह बात बखूबी जानते है कि किस तरह उन्हें पब्लिक का ध्यान कहानी में बनाए रखना है। और दूसरी तरफ केके मेनन जिन्होंने अपने किरदार को निभाने में पूरी जान लगा दी।

कहानी अंत तक दर्शकों को बांध कर रखती है। इसके कुल आठ एपिसोड है और हर एपिसोड का कुछ ऐसा अलग सा नाम होता है जो आपको मेकर्स का हिंदी फिल्मों के प्रति अटल प्रेम दिखाता है। हर एक एपिसोड के साथ परत दर परत, राज़ खुलते जाते है और हर एपिसोड के साथ नए किरदारों की एंट्री दिखती है। ऐसे में आप एक एपिसोड को देखने के बाद दूसरे एपिसोड को देखने से खुद को रोक नहीं पाएंगे।

‘स्पेशल ऑप्स’ वेब सीरीज की इस भीड़ में स्पेशल है। इस वेब सिरीज़ को देखना किसी को भी मिस नहीं करना चाहिए। यह एक कमाल की सीरीज है जो आप सबका मन खुश कर देगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.